बाइक खड़ी कर शिवनाथ नदी में लगा दी छलांग, 24 घंटे बाद मिला शव; सुसाइड नोट में लिखा-मर्जी से मर रहा हूं, तकलीफ के लिए माफी….

[ad_1]

पुलिस शिक्षक के परिजनों से पूछताछ करेगी। आखिर उन्होंने इस तरह का आत्मघाती कदम क्यों उठाया। - Dainik Bhaskar

पुलिस शिक्षक के परिजनों से पूछताछ करेगी। आखिर उन्होंने इस तरह का आत्मघाती कदम क्यों उठाया।

Ads

छत्तीसगढ़ के बेमेतरा में बुधवार सुबह शिवनाथ नदी में कूदकर जान देने वाले प्रधान पाठक का शव पुलिस ने बरामद कर लिया है। उनका शव बहते हुए सिमगा तक पहुंच गया था। खुदकुशी करने का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है। हालांकि उसमें सिर्फ मर्जी से जान देने की बात लिखी गई है।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस को बुधवार सुबह करीब 8 बजे सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति ने टेमरी गांव से गुजरने वाली शिवनाथ नदी में छलांग लगा दी है। पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां बाइक खड़ी मिली। तलाशी लेने के दौरान एक डायरी बरामद हुई, जिससे पता चला कि नदी में कूदने वाले सुदर्शन प्रसाद कोसरिसा (55) ग्राम बेलारी में प्रधान पाठक थे।

शिवनाथ नदी में शिक्षक का शव मिला।

शिवनाथ नदी में शिक्षक का शव मिला।

बेमेतरा थाना प्रभारी प्रेमप्रकाश अवधिया ने बताया कि नदी में बहाव तेज होने के कारण काफी तलाश के बाद भी उनका कुछ पता नहीं चल सका था। गुरुवार को सिमगा क्षेत्र में शव होने की जानकारी मछुआरों से मिली थी। इसके बाद शव की शिनाख्त हो सकी। TI अवधिया ने बताया कि बाइक से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। उसमें प्रधान पाइक ने खुदकुशी के लिए स्वयं को जिम्मेदार बताया है। साथ ही किसी को कोई तकलीफ हुई हो तो उसके लिए माफी भी मांगी है।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here