रोटरी क्लब आफ़ क्वीज बिलासपुर ने दिव्यांग बच्चों के शिक्षकों का किया सम्मान समारोह

सक्ती- भारत के द्वितीय राष्ट्रपति सर्वपल्ली डॉ राधाकृष्णन ने शिक्षा के क्षेत्र में सबसे बड़ा योगदान दिया है। उनके याद में देश भर में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। आज के दौर में दिव्यांग बच्चों को शिक्षित करना बहूत ही सराहनीय कार्य है। उक्त बातें रोटरी क्लब ऑफ बिलासपुर क्वींज़ की अध्यक्ष अर्चना अग्रवाल ने दिव्यांग बच्चों के शिक्षकों के सम्मान समारोह में कही,जस्टिस तनखा मेमोरियल रोटरी स्कूल फॉर स्पेशल चिल्ड्रन द्वारा दिव्यांग बच्चों को शिक्षा दी जाती है। यहां के शिक्षकों का सम्मान रोटरी क्लब बिलासपुर क्वींज़ वारा किया गया।

इस अवसर पर अध्यक्ष अर्चना अग्रवाल ने कहा कि दिव्यांगों की पीड़ा आज के दौर में कोई समझने को तैयार नहीं है। ऐसे में कोई शिक्षक समर्पित होकर दिव्यांग बच्चों को शिक्षित कर रहा है तो अत्यंत ही सराहनीय है। जस्टिस तनखा मेमोरियल रोटरी स्कूल फॉर स्पेशल चिल्ड्रन की प्रिंसिपल स्वेता देवांगन, श्रुति माधुरी, कांति दुबे, अंजना शांडिल, प्रभा सिंह, संतोषी ठाकुर, शिला देवांगन, उज्ज्वला अग्रवाल, दामिनी यादव, आर जे सिंह सहित जे एल चौहान का सम्मान किया गया ।

Ads

कार्यक्रम के दौरान कोरोना काल में मोहल्ला स्कूल लगाने वाले गौरव सर् का भी रोटरी क्लब बिलासपुर क्वींज़ ने सम्मान किया, उन्हें मोमेंटो भेंट के राशि भी प्रदान किया गया। इस अवसर पर संस्था की अध्यक्ष अर्चना अग्रवाल, सेकेट्री आँचल अगिचा, प्रेरणा सुराना, वन्दना सिंह, वन्दना चतुर्वेदी, मनीष जयसवाल सहित शिक्षक गण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here