Roka-Cheka Campaign: खरीफ फसलों की सुरक्षा के लिए आज से रोका-छेका अभियान

रायपुर, राज्य ब्यूरो। Roka-Cheka Campaign: राज्य में खरीफ फसलों की सुरक्षा के लिए इस वर्ष भी गुरुवार से रोका-छेका का अभियान शुरू किया जा रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि रोका-छेका हमारी पुरानी पंरपरा है। यह अभियान राज्य में गत वर्ष भी चलाया गया था, जिसका बड़ा ही उत्साहजनक परिणाम रहा। इसे ध्यान में रखते हुए इस वर्ष एक जुलाई से यह अभियान पुन: चलाया जा रहा है। उन्होंने इसकी सफलता के लिए सभी किसानों से सहयोग की अपील की है।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि रोका-छेका हमारी पुरानी परंपरा है। इसके माध्यम से हम अपने पशुओं को खुले में चराई के लिए नहीं छोड़ने का संकल्प लेते हैं, ताकि हमारी फसलों को नुकसान न पहुंचे। पशुओं को अपने घरों, बाड़ों और गोठानों में रखा जाता है और उनके चारे-पानी का प्रबंध करना होता है।

Ads

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि राज्य में पशुधन की बेहतर देखभाल हो इस उद्देश्य से गांव में गोठान बनाए जा रहे हैं। अब तक हमने 10 हजार 57 गोठानों के निर्माण की स्वीकृति दी है, जिसमें से पांच हजार 820 गोठान बनकर तैयार हो गए हैं।

इधर-महंगाई के विरोध में कांग्रेस का छह जुलाई से राष्ट्रव्यापी आंदोलन

प्रदेश कांग्रेस कमेटी महंगाई व पेट्रोल-डीजल के कीमतों में बढ़ोतरी के विरोध में केंद्र सरकार के खिलाफ राज्य स्तर के साथ-साथ जिला व ब्लाक स्तर पर आंदोलन करने जा रही है। छह जुलाई को ब्लाक स्तरीय आंदोलन हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा।

कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने बताया कि इस दौरान बर्तनों को पीट-पीटकर विरोध दर्ज कराते हुए पेट्रोल व डीजल की कीमतों के साथ केंद्रीय उत्पाद शुल्क को कम किए जाने की मांग की जाएगी। वहीं महंगाई के विरोध में पाम्पलेट, पोस्टर व प्ले कार्ड के साथ स्थानीय स्तर के पेट्रोल पंपों में आमजनता से हस्ताक्षर कराया जाएगा।

उन्होंने बताया कि 14 जुलाई को जिला स्तरीय साइकिल यात्रा निकाली जाएगी। 17 जुलाई को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व वरिष्ठ कांग्रेसजनों के नेतृत्व में राजधानी रायपुर में पैदल मार्च निकाला जाएगा। महंगाई व इंधनों की कीमतों में की गई वृद्धि का विरोध करते हुए प्रधानमंत्री के नाम जिलाधीश को ज्ञापन दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here