लकवाग्रस्त मरीज ने किया दावा, कोरोना वैक्सीन लगाने 1 घंटे बाद ही ठीक हो गया, लोग मान रहे वरदान

  • राजगढ़: कोरोना वैक्सीन को लेकर जहां कई तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं, वहीं मध्य प्रदेश में एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां वैक्सीन लगवाने के बाद शख्स की गंभीर बीमारी सही हो गई। इस शख्स का दावा है कि वो पिछले कई महीने से पैरालिसिस जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहा था, कई जगह का इलाज कराया, लेकिन कोई फायदा नहीं मिला था।

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के सारंगपुर निवासी अब्दुल मजीद खान ने सुबह 10.30 बजे कोरोना वैक्सीन लगवाई। उनका कहना है कि वे पिछले छह-सात महीने से पैरालिसिस से जूझ रहे थे। पैरालिसिस का असर उनके मुंह पर भी था, वे ठीक से बोल भी नहीं पा रहे थे।

मजीद खान ने बताया कि कोरोना वैक्सीन लगवाने के सिर्फ आधा घंटे में ही उनकी ये बीमारी सही हो गई। उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन के कुछ देर बाद ही उनके लकवाग्रस्त अंगों में हलचल शुरू हो गई। जो अंग सुन्न थे, उन अंगों ने काम करना शुरू कर दिया।

Ads

वैक्सीनेशन को माजिद खान खुद के लिए वरदान मान रहे हैं। उन्होंने कहा कि कई डॉक्टर उनकी इस बीमारी को लेकर जवाब दे चुके थे। वे भी काफी परेशान थे। अब इस बीमारी से ठीक होने के बाद वे लोगों से वैक्सीनेशन की अपील कर रहे हैं।

मजीद खान ने बताया कि उन्हें वैक्सीन लगवाने के बाद 75 फीसद तक आराम मिला है। उन्होंने बताया कि पैरालिसिस के कारण उन्हें बोलने में काफी समस्या हा रही थी, लेकिन अब वे सही तरीक से बोल भी पा रहे हैं।

राजगढ़ जिला चिकित्सालय के डॉ. सुधीर कलावत का कहना है कि माजिद खान को कोविशील्ड वैक्सीन लगाई गई थी। उन्होंने कहा कि मरीज का दावा है कि वैक्सीन लगवाने के बाद उसका पैरालिसिस सही हुआ है।

डॉ. सुधीर कलावत ने बताया कि यह साइकोलॉजिकल हो सकता है या फिर यह वैक्सीन का इफेक्ट भी हो सकता है, जो भी हो इसको रिसर्च स्टडी की आवश्यकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here