किताबें अब ऑनलाइन उपलब्ध: NCERT की कक्षा 11वीं और 12वीं के लिए पाठ्यक्रम आधारित किताबें मिल रहीं ऑनलाइन, ऐसे करें खरीदारी

30
Google search engine

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग के द्वारा शिक्षासत्र 2017–2018 से कक्षा 11 वीं एवं शिक्षासत्र 2018–2019 से कक्षा 12 वीं हेतु राज्य में NCERT पाठ्यक्रम के अनुरूप पाठ्यपुस्तकें लागू की गई हैं. छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा NCERT से समन्वय करते हुए कक्षा 11 वीं की 24 एवं कक्षा 12 वीं की 13 विषयों का मुद्रण कराया गया है.

NCERT की किताबें ऑनलाइन उपलब्ध

ये पुस्तकें छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम के छः पुस्तक भंडारों (रायपुर, बिलासपुर, अंबिकापुर, रायगढ़, राजनांदगांव, जगदलपुर) में विक्रय के लिए उपलब्ध हैं. इसके अलावा ये पुस्तकें राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित निगम के शताधिक पंजीकृत विक्रेताओं के पास भी उपलब्ध हैं.

छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा प्रकाशित इन पाठ्यपुस्तकों की विषयवस्तु पूरी तरह से NCERT पाठ्यक्रम की होने से यह बाजार में उपलब्ध किसी भी अन्य गाईड या निजी प्रकाशक के पुस्तक की तुलना में अधिक गुणवत्ता युक्त एवं सस्ती हैं. इन पुस्तकों का उपयोग कक्षा 11 वीं एवं कक्षा 12 वीं के छात्रों के अलावा प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों के द्वारा भी किया जाता है.

छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा प्रकाशित इन पाठ्यपुस्तकों को यदि विद्यालय, छात्र, अभिभावक या अन्य कोई भी सीधे निगम के डिपो से प्राप्त करते हैं तो प्रत्येक पाठ्यपुस्तकों के मूल्य में पंद्रह प्रतिशत की छूट दी जाती है.

छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा डिजिटल इण्डिया की तरफ एक कदम और बढ़ाते हुए इन पुस्तकों को निगम की वेबसाइट WWW.tbc.cg.nic.in पर ऑनलाइन भी उपलब्ध कराया गया है. इसके द्वारा कोई भी छात्र, अभिभावक या अन्य सीधे पाठ्यपुस्तकों की ऑनलाइन आर्डर कर सकते हैं. आर्डर प्राप्त होते ही पुस्तकें निगम द्वारा डाक पोस्ट या कुरियर के माध्यम से भेजा जाएगा. निगम द्वारा डाक व्यय का वहन छूट दी जा रही राशि के अंतर्गत किया जाएगा.

छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा शिक्षासत्र 2019–2020 में आठ लाख निनानबे हजार नौ सौ अठासी पुस्तकें बेची गयी, इससे निगम को छः करोड़ पंद्रह लाख एकसठ हजार तेरह रुपये मिले. इसी प्रकार शिक्षासत्र 2020–2021 में एक लाख उनतीस हजार चौहत्तर पुस्तकें बेची गई. इससे निगम को इन्क्यानबे लाख तिरालिस हजार छः सौ उनचास रुपये मिले.

शिक्षा सत्र 2021–2022 में सतहत्तर हजार नौ सौ सतहत्तर पुस्तकें बेची गयी. इससे निगम को तिरेपन लाख इक्चालिस हजार चार सौ अस्सी रुपये मिले. वर्तमान में निगम के पुस्तक भंडारों में कुल 43 विषयों की आठ लाख उन्यासी हजार एक सौ बाईस पुस्तके विक्रय हेतु उपलब्ध हैं, जिनकी अंकित मूल्य आठ करोड़ चौबीस लाख उन्सठ हजार बियानाबे रुपये है.

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here