किसान उपभोक्ता सब्जी बाजार दो साल से बंद, नहीं पहुंच रहे सब्जी विक्रेता

HEERA MANIKPURI

पंडरी स्थित बाजार में उग आए घास, गंदगी का भी आलम। सब्जी विक्रेता ठेले में सामान रखकर बेचने को मजबूर

 

Ads
रायपुर । राजधानी में धान मंडी को बंद करके किसान उपभोक्ता सब्जी बाजार तैयार किया गया था। वर्तमान में सब्जी बाजार खंडहर में तब्दील हो गया है। जानकारी के अनुसार, पंडरी और गंजपारा रेलवे स्टेशन के पास धान मंडी बंद होने के बाद यहां लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए लाखों रुपये की लागत से किसान उपभोक्ता सब्जी बाजार तैयार किया है।

कोरोना महामारी के वजह से पंडरी स्थित किसान उपभोक्ता बाजार दो साल से बंद है। जबकि राजधानी में सब्जी की बाजार सजाने लगी है। मजबूरन सब्जी विक्रेता ठेले में रखकर बेच रहे है। इतना ही नहीं कई सब्जी विक्रेता सड़कों में दुकान लगाने को मजबूर है। अधिकारियों का कहना है कि कोरोना महामारी में प्रशासन की गाइडलाइन के तहत बंद किया था। तब से सब्जी बाजार नहीं लग रही है।

 

 

 

गंज मंडी सब्जी बाजार में खरीदार नहीं

 

 

गंज मंडी में फिलहाल अभी गिनती केपंडरी स्थित बाजार में उग आए घास, गंदगी का भी आलम। सब्जी विक्रेता ठेले में सामान रखकर बेचने को मजबूर। सब्जी विक्रेता दुकान लगा रहे है, लेकिन खरीदारों की संख्या बहुत कम है। सब्जी विक्रेता रमेश साहू समेत अन्य लोगों ने बताया कि पहले यह सब्जी दुकान गुरुद्वारा के पास लगाते थे। नगर निगम ने वहां सुंदरीकरण और सड़क बनाने के लिए के नाम पर हटाकर कुछ महीने ही यहां शिफ्ट किया गया है। अब हालत ऐसा है कि यहां कोई खरीदार नहीं पहुंच रहे है।

मजबूरन हमें ग्राहकों का इंतजार करना पड़ता है। सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि यहां सामने में शराब दुकान, गैरेज के गाड़ियों की आवाजाही के कारण ग्राहक नहीं पहुंचते है। जबकि यह जगह केवल सब्जी विक्रेताओं के लिए है। फिर भी गैरेज के गाड़ी समेत अपने सामान शेड में रख देते है। इस संबंध में कोई बार शिकायत करने के बाद भी नगर निगम समेत कृषि उपज मंडी के अधिकारी कार्रवाई नहीं की जा रही है।

ठेले में सब्जी रखकर बेचने को मजबूर विक्रेता

 

 

 

सब्जी बाजार बंद होने के कारण सब्जी विक्रेता गली-मोहल्ले में ठेले में सब्जी बेच रहे है। जबकि इन जगहों पर फुटकर और थोक सब्जी दुकान लगाने को है। अधिकारियों का कहना है कि हम चाहते है कि सब्जी विक्रेता यहां बैठे, लेकिन लंबे समय से वे ठेले में सब्जी रखकर गली-मोहल्लों में बेचने को निकल जाते है।

सब्जी बाजार लगाने के लिए जल्द ही पहल की जा रही है। विक्रेताओं से फिर से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। यह शेड सब्जी विक्रेताओं के लिए बनाई गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here