किसानों के फसलों को मिलेगी बीमा सुरक्षा… सात जुलाई तक मनाया जाएगा फसल बीमा सप्ताह…

कोरबा: जिले के किसानों को फसल बीमा के प्रति जागरूक करने तथा फसलों को बीमा सुरक्षा कवच प्रदान करने के लिए कलेक्टर रानू साहू ने कलेक्टोरेट परिसर से दो फसल बीमा रथों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। भारत की आजादी के 75वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आजादी के अमृत महोत्सव की थीम पर एक से सात जुलाई 2021 तक फसल बीमा सप्ताह के रूप में मनाया जा रहा है।

फसल बीमा रथ गांव-गांव जाकर किसानों को खरीफ मौसम में लगी चार फसलों का बीमा कराने के लिए प्रोत्साहित करेगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना किसानों को बाढ़, सूखा, जलभराव, कीट व्याधि एवं ओलावृष्टि जैसी प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए संचालित की जा रही है। रथों की रवानगी के दौरान नगर निगम आयुक्त कुलदीप शर्मा, सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी एस. के. जोशी, उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक दिनकर सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Ads

कलेक्टर की अपील – कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने अधिक से अधिक किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत अपनी फसलों का बीमा कराकर लाभ लेने की अपील की है। कलेक्टर श्रीमती साहू ने बताया कि इस योजना से किसानों को उचित प्रीमियम पर फसलों की सुरक्षा मिलेगी तथा इससे किसानों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले फसलों के नुकसान की भरपाई हो पाएगी।

इस वर्ष जिले केे 24 हजार 150 किसानों का फसल बीमा कराने का लक्ष्य – इस वर्ष कोरबा जिले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 24 हजार 150 किसानों के फसलों का बीमा कराने का लक्ष्य रखा गया है। किसानों की फसलों का बीमा एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है।

खरीफ मौसम में धान की सिंचित फसल के लिए किसानों को 990 रूपए प्रति हेक्टेयर के प्रीमियम पर 49 हजार 500 रूपए की बीमा राशि तय की गई है। धान के असिंचित फसल के लिए 720 रूपए प्रति हेक्टेयर के प्रीमियम पर 36 हजार रूपए की बीमा राशि निर्धारित की गई है। मूंग और उड़द फसलों के लिए 16 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर के बीमा के लिए 320 रूपए का प्रीमियम चुकाना होगा।

इसी प्रकार रबी मौसम में सरसों फसल का 18 हजार 500 रूपए प्रति हेक्टेयर का बीमा 277 रूपए 50 पैसे में होगा। अलसी फसल के लिए किसानों द्वारा 255 रूपए की प्रीमियम राशि चुकाने पर 17 हजार रूपए प्रति हेक्टेयर का बीमा होगा। फसल बीमा का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को खरीफ के लिए 15 जुलाई 2021 तक तथा रबी के लिए 15 दिसंबर 2021 तक आवेदन करना होगा।

किसानों को अपना आधार नंबर और मोबाइल नंबर भी बैंक में अपडेट कराना होगा। फसल बीमा पोर्टल पर बिना आधार प्रमाणीकरण के बीमा मान्य नहीं होगा। बीमा का लाभ लेने के लिए किसानों को प्रस्ताव पत्र के नवीनतम बैंक पासबुक कॉपी एवं आधार कार्ड की छायाप्रति दस्तावेज के रूप में अनिवार्य रूप से जमा करना होगा।

किसान अपने नजदीकी राष्ट्रीयकृत बैंक शाखा, क्षेत्रिय ग्रामीण बैंक, जिला सहकारी बैंक, प्राथमिक सहकारी. समिति, लोक सेवा केन्द्र या भारत सरकार की बीमा पोर्टल के माध्यम से फसल बीमा करा सकते हैं। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए किसान जिले के कृषि अधिकारी, राजस्व अधिकारी, बैंक सीएससी एवं एआईसी या तहसील कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here