लव, सेक्स और मर्डर के साथ रेशमा का ‘तांत्रिक’ कनेक्शन, मुंहडबरी कांड में नया खुलासा

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में स्थित खैरागढ़ की एक महिला रेशमा जोशी हत्याकांड को पुलिस ने 24 घंटे के भीतर सुलझा तो लिया है, लेकिन ‘लव, सेक्स और फिर मर्डर’ के इस मामले में कवर्धा से ‘तांत्रिक कनेक्शन’ भी है। रेशमा की हत्या के मामले में आए नए खुलासों ने साफ किया है कि झूठ और बेइमानी की बूनियाद पर कोई रिश्ता टिकता नहीं है, बल्कि कई की जिंदगी बरबाद करता है। वहीं इस घटना के बाद उपजी चर्चा इस तरफ भी इशारा कर रही है कि एक नीम-हकीम समस्याग्रस्त महिलाओं के जज्बातों के साथ खिलवाड़ करते हुए कैसे उन्हें बरबाद कर रहा है।

खैरागढ़ ( राजनांदगांव)। नगर के लालपुर निवासी रेशमा जोशी हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने 24 घंटे के भीतर ही सुलझा ली। रेशमा जोशी के परिजनों ने 2/3 दिनों से उसके घर से बिना बताए कहीं चलें जाने की रिपोर्ट गुरूवार को खैरागढ थाने में दर्ज कराई थी। शुक्रवार की सुबह छुईखदान थाने व खैरागढ ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले ग्राम मुंहडबरी व विक्रमपुर के रास्ते पर रेशमा जोशी की लाश पाई गई थी। असल मे लाश को बोरी में भरकर नाले में फेंक दी गई थी। इसकी सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को दी थी। पुलिस ने जब आसपास के लोगों को लाश पहचानने कहा, तो खैरागढ़ निवासी मोती गायकवाड़ ने मृतिका के जीन्स, टी-शर्ट, हाथ में बने टैटू और चप्पल वगैरह को देखकर बताया कि मृतिका उसी की बेटी रेशमा जोशी है, जो घर से गायब थी।

Ads

लाश के हालात बता रहे थे कि रेशमा की मौत साधारण नही हुई, बल्कि उसकी हत्या करके लाश को छिपाने की कोशिश की गई है। घटनास्थल के हिसाब से छुईखदान थाने की पुलिस ने मामले की तहकीकात शुरू की। पुलिस के आला अफसरों से भी राय-मशवरा करते हुए टीम ने जांच शुरू की। पुलिस ने रेशमा जोशी से जुड़ी कहानी की पड़ताल करते हुए रात को ही उसके प्रेमी ग्राम अकरजन निवासी दयाराम साहू को हिरासत में ले लिया था। पुलिस को बाहर से रेशमा से सम्बंधित जो भी इनपुट मिल रहे थे, वे कहीं न कहीं दयाराम साहू पर ही आकर रुकते थे। इधर, दयाराम इस बात से साफ इंकार करता रहा कि रेशमा की मौत से उसका कोई लेना-देना है। दयाराम एक झूठ को छिपाने झूठ पर झूठ बोलता गया, लेकिन अंततः वह टूट गया और पुलिस के सामने अपने जुर्म की पूरी कहानी बयां कर दी। दयाराम ने गुनाह कुबूल करते हुए अपनी आशिकी से लेकर कातिल बनने तक का जो सफ़रनामा सुनाया है, वह हैरान करने वाला तो है ही, सचेत करने और सबक देने वाला भी है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक जो दयाराम साहू ने पुलिस को बताया :- ‘दयाराम साहू शादीशुदा है। रेशमा जोशी भी शादीशुदा थी। दोनों के बीच पिछले कुछ समय से अवैध संबंध थे। दयाराम के मुताबिक, उनके बीच प्यार का रिश्ता था। दोनों ने अपने-अपने घर वालों को धोखा देते हुए, लुक-छिपकर अनेक बार शारीरिक संबंध बनाए। काफी दिनों तक रिश्ता ऐसा ही चलता रहा। बाद में धीरे-धीरे रेशमा का उसके अपने परिवार से रिश्ता बिगड़ता गया। वह दयाराम के ज्यादा करीब आती गई। रेशमा दयाराम से कहने लगी कि दोनों के बीच प्यार है, शारीरिक संबंध भी बन चुके हैं, तो अब पत्नी ही बनाकर रख ले।

लेकिन, दयाराम के लिए यह मुमकिन इसलिए नही, क्योंकि वह शादीशुदा भी है और उसकी जिंदगी अपनी पत्नी के साथ अच्छी चल रही है। ऐसे में दयाराम सीधे मना न करके रेशमा को काफी दिनों तक चिकनी-चुपड़ी बातों से उलझाए रखा। एक हद तक यकीन रखने के बाद रेशमा को भी समझ आ गया कि दयाराम सिर्फ घुमा रहा है। रेशमा ने दबाव बढ़ा दिए। आये दिन दोनों के बीच इसे लेकर लड़ाई होती रही। रेशमा ने कभी ब्लैकमेल की धमकी दी, तो कभी पुलिस केस में फंसाने की। दयाराम सब सहता रहा और हर बार झुककर माफी मांग ली। लेकिन आये दिन के झगड़े से वह परेशान भी बहुत हो गया था। उसने ठान लिया कि अब इस समस्या को जड़ से उखाड़ फेंकेगा। इसके लिए दयाराम ने अपनी प्रेमिका रेशमा को ही खत्म करने की योजना बना डाली।’ अपनी प्लानिंग के मुताबिक उसने रेशमा की हत्या कैसे की, और इस पूरे मामले में कवर्धा के तांत्रिक का क्या रोल है,

‘दयाराम ने अपनी मर्डर प्लानिंग के मुताबिक 15 जून, मंगलवार को रेशमा जोशी को कॉल किया। उसे खैरागढ़ में मिलने कहा। दयाराम अपने गाँव अकरजन से अपनी बाइक में एक जुट का बोरा साथ लेकर खैरागढ़ के लिए निकला। रेशमा जोशी निर्धारित जगह पर पहुंच चुकी थी। दयाराम के भी पहुंचने के बाद दोनों बाइक में सवार होकर घूमने निकल गए। प्रेमी दयाराम अपनी प्रेमिका रेशमा को घुमाते हुए मुँहड़बरी-विक्रमपुर मार्ग पर बन रहे पूल की तरफ ले गया। दोनों वहां कुछ देर ठहरे, बातें की। फिर वहां रोड किनारे बाइक को खड़ी कर दी। वे दोनों रोड से लगभग 75-100 मीटर दूर महुआ पेड़ की तरफ गए। पेड़ की आड़ में छिपकर दोनों ने शारीरिक संबंध बनाया। इसके बाद प्रेमी दयाराम ने रेशमा की ही टी-शर्ट से रेशमा का मुंह अचानक ढंककर गला घोंट दिया, उसकी हत्या कर दी।’

अब चूंकि शक के आधार पर हिरासत में लिए गए दयाराम साहू ने अपराध करना स्वीकार कर लिया है, तो 24 घंटे के भीतर पूरा मामला सुलझा लिया गया और आरोपी को ज्युडिशियल रिमांड पर जेल भेजा जा चुका है, लेकिन इस पूरी कहानी का तांत्रिक कनेक्शन भी इस समय चर्चा का विषय है। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ माह से रेशमा जोशी कवर्धा के एक नीम-हकीम के संपर्क में थी। रेशमा की पूरी कहानी की हमराज दो महिलाएं हैं, जिसमें एक खैरागढ़ के रहने वाली है, जबकि दूसरी महिला तुमड़ीबोड़ की रहने वाली है। खैरागढ़ वाली महिला ने रेशमा को नीम-हकीम का नाम, पता दिया था। अपनी घरेलू समस्याओं और दयाराम साहू से संबंधों को लेकर परेशान रेशमा अपनी तमाम मुश्किलों से मुक्ति चाहती थी, इसलिए वह कवर्धा के उस नीम-हकीम के न केवल संपर्क में आई, बल्कि पिछले कुछ दिनों से वह विक्षिप्तों जैसा व्यवहार भी करने लगी। बताया जाता है कि कवर्धा के उस नीम-हकीम ने पहले तो रेशमा से उसकी पूरी समस्याएं और घरेलू बातें पूछ ली।

रेशमा से जुड़ी तमाम निजी जानकारी हासिल करने के बाद अपनी बातों से रेशमा को उलझाया, फिर जादू-टोने का भय दिखाकर कुछ दवाइयां दी, ताबीज दिए। रेशमा से नीम-हकीम ने व्हाट्सअप पर पिक्स और वीडियो भी मांगे थे। नीम-हकीम की कई हरकतों से भी रेशमा हैरान थी, लेकिन अपनी तमाम निजी जानकारी बता चुके होने के कारण वह नीम-हकीम की बातें मानने के लिए मजबूर थीं। रेशमा के नजदीकियों के बीच यह चर्चा है कि रेशमा की मानसिक स्थिति को बिगाड़ने में नीम-हकीम की हरकतों का भी बड़ा हाथ है, हालांकि पुलिस के सामने दयाराम साहू ने अपराध कुबूल कर लिया है, इसलिए इस पहलू को पुलिस रिकॉर्ड में फोकस नहीं किया गया। विवेचना से जुड़े एक अफसर ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि ऐसे मामले में एक कार्रवाई के बाद जब जांच आगे बढ़ती है, तो बाद में भी कार्रवाई की जा सकती है।

तांत्रिक से संबंधित जानकारी जुटाने के संबंध में उन्होंने यह भी कहा कि फिलहाल हत्या के इस मामले में आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की गई है, तांत्रिक पर भी निगरानी रखी जा रही है और सही वक्त पर नियमानुसार तांत्रिक के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। असल में पुलिस को तांत्रिक के मामले में किसी चश्मदीद की भी तलाश है। बताया जा रहा है कि खैरागढ़, गंडई, साजा, धमधा आदि इलाके की कई महिलाएं उस तांत्रिक के संपर्क में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here