Homeराज्य-शहरअंतरराष्ट्रीय महिला दिवस : छत्तीसगढ़ में कोरोना वैक्सीनेशन में महिलाएं आगे

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस : छत्तीसगढ़ में कोरोना वैक्सीनेशन में महिलाएं आगे

रायपुर। छत्तीसगढ़ कोरोना के खिलाफ जंग में रोज महिला दिवस मना रहा है। कोविड19 से जंग में महिलाओं ने न केवल पुरूषों के साथ कंधे से कंधा मिला कर हर मोर्चे पर काम किया है बल्कि कई मोर्चाें पर उनसे भी आगे रह कर काम किया है। चाहे वह महिला स्वास्थ्य कर्मी के रूप में चिकित्सक हो या ए एन एम या मितानीन हो,सफाईकर्मी हो ,कोविड वैक्सीन के लिए तैनात वैक्सीनेटर हो ,सभी ने बखूबी अपना दायित्व निभाया है। 700 से अधिक महिला वैक्सीनेटर पूरे प्रदेश में कोरोना वैक्सीन लगा रही है। बच्चों के नियमित टीकाकरण अभियान मे 5000 से अधिक ए एन एम जुटी हुई हैं।

इसे भी पढ़े – क्या कहती हैं आपकी ग्रहदशाएं, क्या करें कि दिन होगा शुभ, जानिए क्या है आज का राशिफल ?

इसके अलावा राज्य में 16 जनवरी 2021 से शुरू हुए कोरोना टीकाकरण अभियान में प्रथम चरण में जहां हेल्थ केयर वर्कर एवं फ्रंट लाइन वर्कर का टीकाकरण किया गया वहीं द्वितीय चरण में 60 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों का एवं 45 से 59 वर्ष के उन लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है जो किसी अन्य बीमारियों से पीड़ित हैं। राज्य में हो रहे कोविड टीकाकरण के (प्रथम एवं द्वितीय दोनों डोज) के आंकड़ो पर नजर डालें तो छत्तीसगढ़ में कोविड के खिलाफ जंग में महिलाओं की सहभागिता पुरुषों से कहीं ज्यादा है, ।
राज्य में जहां 2 लाख 54 हजार 565 पुरुषों का टीकाकरण हुआ है वहीं 2लाख 59 हजार 489 महिलाओं का तक टीकाकरण किया जा चुका है। भारत सरकार के आंकड़ों पर नजर डालें तो 85 लाख 45 हजार 683 पुरुष व 69लाख 93 हजार 594 महिलाओं का टीकाकरण किया गया है।

इसे भी पढ़े – IPL Match Detail: आईपीएल-2021 इस तारीख से होगा शुरू, पहला मैच मुंबई और बैंगलोर के बीच, देखिए पूरा शेड्यूल…

भारत सरकार द्वारा किये गए 1.55 करोड़ कोविड टिकाकरण के आंकड़ों पर नजर डालें तो 54% पुरुषों का वहीं मात्र 45% महिलाओं का टिकाकरण किया गया है। जबकी छत्तीसगढ़ में हुए 5.14 लाख कोविड टिकाकरण में 50.47% महिलाओं का कोविड टिकाकरण किया जा चुका है.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर डॉ. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय, रायपुर के सर्जरी विभाग में महिलाओं को निः शुल्क ब्रेस्ट स्क्रीनिंग की सुविधा भी दी गई है। वहीं रेडियोलॉजी विभाग में ब्रेस्ट मैमोग्राफी या मैमो सोनोग्राफी की सुविधा भी महिलाओं को निः शुल्क प्रदान की जाएगी। 35 से 65 उम्र तक की महिलाएं इस स्क्रीनिंग सुविधा का लाभ ले सकती हैं।

इसे भी पढ़े – DC Full Fixtures: दिल्ली का दिल जीतने उतरेगी कैपिटल्स, ‘धोनी सेना’ के साथ पहली टक्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments