Controversy over spit in CG is not decreasing: BJP workers protest in SP office, demanding action against Congress workers | पूर्व मंत्री के साथ हुई धक्का-मुक्की के बाद विवाद और बढ़ा, BJP कार्यकर्ता पहुंचे SP कार्यालय का घेराव करने; पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रोका

[ad_1]

बीजेपी कार्यकर्ताओं को संभालने पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। - Dainik Bhaskar

बीजेपी कार्यकर्ताओं को संभालने पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

Ads

छत्तीसगढ़ में भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी के थूक में बह जाएगा मंत्रिमंडल वाले बयान का विवाद कम होने का नाम नहीं ले रहा है। पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर के साथ हुई धक्का-मुक्की के बाद ये विवाद और बढ़ गया है। अब शुक्रवार को बीजेपी कार्यकर्ताओं ने एसपी ऑफिस का घेराव कर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बीजेपी के कार्यकर्ता करीब दोपहर 12.30 बजे एसपी ऑफिस का घेराव करने पहुंचे थे।उन्हें ऑफिस के पहले ही पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रोक लिया गया।

इसके बावजूद कार्यकर्ता बैरिकेड तोड़कर अंदर घुसने का प्रयास करते रहे। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर उनके साथ मारपीट करने और कुरुद विधायक अजय चंद्राकर के साथ धक्का-मुक्की का आरोप लगाया है। इसके अलावा कार्यकर्ताओं ने कुरुद थाना के टीआई, तहसीलदार और एसडीएम के खिलाफ भी कार्रवाई की मांग की है। कार्यकर्ताओं ने इसके लिए एक शिकायत पत्र राज्यपाल के नाम एडिशनल एसपी निवेदिता पाल को सौंपा है।

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी भी की।

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी भी की।

विवाद और कैसे बढ़ा?

बीजेपी प्रदेश प्रभारी के बयान के बाद से ही प्रदेश में उनके बयान को लेकर कांग्रेस जगह-जगह प्रदर्शन कर रही थी। कांग्रेस नेता बीजेपी नेताओं और पूर्व मंत्रियों को थूकदान देकर विरोध जताने में लगे हुए हैं। इस बीच गुरुवार को भी कांग्रेस कार्यकर्ता धमतरी के बीजेपी कार्यालय में अजय चंद्राकर को थूकदान भेंट करने पहुंचे थे। इस दौरान विधायक समर्थक भाजपा कार्यकर्ताओं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच गाली-गलौज और मारपीट हो गई। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से दोनों पक्षों को अलग कराया था।

डी. पुरंदेश्वरी ने क्या कहा था?

दरअसल, पिछले दिनों जगदलपुर में आयोजित बीजेपी के चिंतन शिविर में डी. पुरंदेश्वरी ने कह दिया था, भाजपा कार्यकर्ता पलट कर थूक दें तो कांग्रेस सरकार का पूरा मंत्रिमंडल बह जाएगा। इसी बयान के बाद से ये विवाद शुरू हुआ है। उनके बयान को लेकर अलग-अलग नेताओं को अपनी-अपनी राय रही है। खासकर बीजेपी के नेताओं ने उनके बयान का बचाव भा किया है। चंद्राकर ने भी पिछले दिनों इस मसले को लेकर कहा था कि अभी एक शब्द निकला है तो इतना हंगामा है। चुनाव के समय और हथियार निकलेंगे तो क्या होगा। अजय चंद्राकर ने डी. पुरंदेश्वरी के बयान के लिए माफी मांगने से भी इंकार कर दिया था।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here