सीएम ने लिया फैसला, न ही स्कूल खुलेंगे और न ही ट्यूशन फीस बढ़ेगी

51
Google search engine

भोपाल: एमपी में कोरोना की दूसरी लहर थम गई है। पूरे प्रदेश में अब 50 के करीब कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। इस बीच कयास लगाए जा रहे थे कि एमपी में जल्द ही स्कूल खोले जा सकते हैं। इसे लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने साफ कर दिया है कि एमपी में तीसरी लहर खत्म होने तक स्कूल नहीं खोले जाएंगे।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम तीसरी लहर की संभावनाओं के कारण स्कूल खोलने का फैसला नहीं ले रहे हैं। ट्यूशन फीस इस साल बढ़ाई नहीं जाएगी, यह मेरे निर्देश हैं। तीसरी लहर की संभावना खत्म हुई तो हम स्कूल खोलने पर विचार करेंगे। उन्होंने कहा कि हम अस्पतालों में 75,000 बिस्तर तैयार रख रहे हैं। बच्चों के लिए अलग से वॉर्ड बनाए जा रहे हैं। मैं क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी के सदस्यों से निवेदन करता हूं कि आप अस्पतालों में जाकर व्यवस्थाएं देखें।

उन्होंने कहा कि निजी स्कूलों से साफ किया है कि अभिभावकों से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं वसूला जाए। मुझे यह शिकायत मिल रही थी कि बच्चे स्कूल नहीं जा रहे हैं, इसके बावजूद फीस में बढ़ोत्तरी हो रही है। सीएम ने कहा कि स्कूल बंद होने के कारण प्राइवेट स्कूलों को शिक्षकों को वेतन देने में दिक्कत हो रही है, लेकिन पैरेंट्स को भी परेशानी है।

सीएम ने यह भी कहा कि मुझे चिंता इस बात की है कि लोग आजकल बिना मास्क के ही बाहर घूम रहे हैं। जनता यह भूल जाती है कि पिछले दिनों हमने कितने कष्ट सहे है। हमें कोविड को एकबार फिर फैलने नहीं देना है। मैं चाहता हूं कि सभी लोग मास्क लगाएं। यदि कोई और आपको बिना मास्क लगाए घूमते हुए मिले, तो उसे टोके और मास्क लगाने की अपील करें। सांसद और विधायक साथी अपने क्षेत्रों में अपनी वॉइस रिकॉर्ड कर संदेश दे सकते हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमने वो बच्चे, जिन्होंने अपने माता-पिता को कोविड के कारण खो दिया, उनके लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना प्रारंभ की गई है। कोई छूट गया हो तो उनकी सूची भेजें। गौरतलब है कि एमपी में निजी स्कूलों की मनमानी को लेकर लगातार शिकायतें आ रही थीं। पिछले दिनों पालक संघ के लोगों ने इसे लेकर स्कूली शिक्षा मंत्री से मुलाकात भी की थी। इसे लेकर बवाल भी हुआ था।

Google search engine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here