Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ : सरगुजा जिले में जंगली हाथियों के हमले में पति-पत्नी समेत बेटे की मौत

[ad_1]

सार

Ads

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में कुन्नी गांव निवासी गौतम दास का परिवार मोहनपुर गांव के करीब पहुंचा तभी उनका सामना जंगली हाथियों के एक दल से हो गया। जिसके बाद वह सब हाथियों से डरकर भागने की कोशिश करने लगे लेकिन हाथियों ने परिवार को कुचल दिया। मृतकों के परिजन को आर्थिक सहायता दी जाएगी।

प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : अमर उजाला

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में जंगली हाथियों के हमले में पति, पत्नी और उनके चार वर्षीय बेटे की मौत हो गई। सरगुजा जिले के वन विभाग के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि जिले के उदयपुर वन परिक्षेत्र के अंतर्गत मोहनपुर गांव के करीब बुधवार को जंगली हाथियों के हमले में गौतम दास (30), पत्नी रीना दास (28) और उनके चार वर्षीय पुत्र युवराज की मौत हो गई है।

अधिकारियों ने बताया कि लखनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत कुन्नी गांव निवासी गौतम दास अपने परिवार के साथ स्कूटी से उदयपुर गांव गया था।  स्कूटी से उदयपुर गांव जाने के बाद वहां से वापसी के दौरान जब परिवार मोहनपुर गांव के करीब पहुंचा तब उनका सामना जंगली हाथियों के एक दल से हो गया।

हाथियों को देखकर दास परिवार भागने की कोशिश करने लगा लेकिन हाथियों ने परिवार को कुचल दिया। अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने पर वन विभाग के दल को रवाना किया गया तथा शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

मृतकों के परिजन को आर्थिक सहायता दी जाएगी। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले के कटघोरा वन मंडल के अंतर्गत पसान और केंदई वन परिक्षेत्र में करीब 25 हाथियों का दल विचरण कर रहा है। हाथियों ने क्षेत्र के गांवों में फसलों और मकानों को नुकसान पहुंचाया है।

विस्तार

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में जंगली हाथियों के हमले में पति, पत्नी और उनके चार वर्षीय बेटे की मौत हो गई। सरगुजा जिले के वन विभाग के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि जिले के उदयपुर वन परिक्षेत्र के अंतर्गत मोहनपुर गांव के करीब बुधवार को जंगली हाथियों के हमले में गौतम दास (30), पत्नी रीना दास (28) और उनके चार वर्षीय पुत्र युवराज की मौत हो गई है।

अधिकारियों ने बताया कि लखनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत कुन्नी गांव निवासी गौतम दास अपने परिवार के साथ स्कूटी से उदयपुर गांव गया था।  स्कूटी से उदयपुर गांव जाने के बाद वहां से वापसी के दौरान जब परिवार मोहनपुर गांव के करीब पहुंचा तब उनका सामना जंगली हाथियों के एक दल से हो गया।

हाथियों को देखकर दास परिवार भागने की कोशिश करने लगा लेकिन हाथियों ने परिवार को कुचल दिया। अधिकारियों ने बताया कि घटना की जानकारी मिलने पर वन विभाग के दल को रवाना किया गया तथा शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

मृतकों के परिजन को आर्थिक सहायता दी जाएगी। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जिले के कटघोरा वन मंडल के अंतर्गत पसान और केंदई वन परिक्षेत्र में करीब 25 हाथियों का दल विचरण कर रहा है। हाथियों ने क्षेत्र के गांवों में फसलों और मकानों को नुकसान पहुंचाया है।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here