4 साल पहले गायब हो गया था, परिवार ने दशगात्र कर समाज को भोजन भी करा दिया; BSF जवानों ने संदिग्ध समझ कर पकड़ा

[ad_1]पंजाब पुलिस और BSF के जवानों ने पाकिस्तान बार्डर से पकड़ा तो परिजनों से रामलाल की बात कराई। - Dainik Bhaskar

पंजाब पुलिस और BSF के जवानों ने पाकिस्तान बार्डर से पकड़ा तो परिजनों से रामलाल की बात कराई।

पंजाब पुलिस और BSF ने भारत-पाक बॉर्डर के पास से कवर्धा के एक युवक को पकड़ा है। पकड़े गए युवक का नाम रामलाल बैगा (50) है, जो कुकदुर के कांदावानी पंचायत के आश्रित गांव चीरपाली का रहने वाला है। रामलाल करीब 4 साल पहले घर से लापता हो गया था। उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। पुलिसकर्मी जब रामलाल के गांव पहुंचे तो हर कोई हैरान रह गया। यहां पता चला कि घरवालों ने रामलाल को मरा समझकर उसका दशगात्र कर दिया था। साथ ही पूरे समाज को भोजन भी करा दिया।

Ads

दरअसल, 4 साल पहले रामलाल के गायब होने पर परिजनों ने उसे काफी तलाश किया। थाने में रिपोर्ट भी लिखवाई, लेकिन कुछ पता नहीं चला। उसका शव भी नहीं मिला। ऐसे में परिजनों ने भी उसे काफी इंतजार के बाद मरा हुआ मान लिया।

रामलाल बैगा करीब 4 साल पहले लापता हो गए थे।

रामलाल बैगा करीब 4 साल पहले लापता हो गए थे।

तीन महीने पहले पाकिस्तान बार्डर से एक संदिग्ध को पकड़ा
करीब तीन माह पहले जून 2021 में पुलिस और BSF जवानों ने एक संदिग्ध व्यक्ति को पाकिस्तान बार्डर से पकड़ा था। उससे पूछताछ हुई, तो वह हर बार एक नई कहानी सुना देता। फिर पुलिस ने उसकी कहानी की तस्दीक करनी शुरू की तो पता चला कि वह छत्तीसगढ़ का रहने वाला है। इस पर पुलिस ने उसकी सूचना कुकदुर थाने को भेजी और दस्तावेज लाने के लिए कहा। इस पर परिजन रामलाल के दस्तावेज जुटाने में लग गए।

वीडियो कॉल के जरिए पंजाब पुलिस अफसरों ने रामलाल की पत्नी से बात की।

वीडियो कॉल के जरिए पंजाब पुलिस अफसरों ने रामलाल की पत्नी से बात की।

कागजी प्रक्रिया चल रही थी, इस बीच फिर भाग निकला
कागजी प्रक्रिया चल रही थी, लेकिन इस बीच रामलाल बीएसएफ कैंप से भाग निकला। पुलिस उसे तलाश करती रही। दो दिन पहले वह एक बार फिर पंजाब पुलिस के हाथ लग गया। फिर एक बार पुलिस ने उससे जुड़े दस्तावेज मांगे हैं। साथ ही कहा है कि परिवार वाले भी खुद आएं। रामलाल के परिवार में उसकी पत्नी और 6 बच्चे हैं। बताया कि रामलाल की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह अक्सर खुद को और अपने परिवार को ही नहीं पहचानते हैं। फिलहाल प्रक्रिया जारी है।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here