CHHATTISGARH : छत्तीसगढ़ की बेटी ने रचा इतिहास, दुनिया भर के 300 प्रतिभागियों को पीछे छोड़ ‘वॉइस ऑफ वर्ल्ड’ के फाइनल में पहुंची श्रुति

बिलासपुर: एक बार फिर छत्तीसगढ़ की बेटी ने प्रदेश का नाम रोशन किया है। दरअसल, बिलासपुर की रहने वाली श्रुति इंटरनेशनल सिंगिंग कंपटीशन शो ‘वाइस ऑफ वर्ल्ड’ के ग्रैंड फिनाले 19 का सेलेक्श हुआ है। ग्रैंड फिनाले से पहले श्रुति की तबीयत खराब हो गई है, जिसकी वजह से उनका अभी बिलासपुर के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

‘वाइस ऑफ वर्ल्ड’ एक इंटरनेशनल ऑनलाइन सिगिंग कंपटीशन है। इसका आयोजन खाड़ी देश कतर में हो रहा है। जिसे चैनल 5 टेलीकास्ट कर रहा है। दो महीने तक चले इस कंपटीशन के फाइनल राउंड में श्रुति ने जगह बनाई है। फिलहाल श्रुति अभी BPA (बैचलर ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट) के सेकेंड ईयर की स्टूडेंट हैं।

Ads

ग्रैंड फिनाले के लिए अपनी रिकॉर्डिंग भेजी

ग्रैंड फिनाले के लिए श्रुति ने अपनी सिंगिंग वाली वीडियो वॉइस ऑफ वर्ल्ड को भेज दी है। श्रुति ने आरडी बर्मन स्पेशल, राज कपूर स्पेशल, लव सांग्स, सैड सांग्स, देशभक्तिपूर्ण गीत, फ़ास्ट नंबर, लगभग सभी राउंड में लगातार बढ़त बनाई और फायनल तक पहुंचने में कामयाब रहीं। इस कंपटीशन में दुनिया भर के 300 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था, जिसमें से 50 प्रतिभागियों को फाइनलाइज किया गया।

10 राउंड हुए, पहले 50 सेलेक्ट किए गए

सिंगिंग कंपटीशन में 10 राउंड्स होते हैं। इसमें दुनियाभर के सिंगर हिस्सा लेते हैं। फिर उनमें से 50 कंटेस्टेंट्स को सेलेक्ट किया जाता है। फिर हर राउंड में 5-5 लोगों को डिसक्वालिफाई करते है। ऐसा करते-करते फाइनल राउंड में आखिरी 5 बचे हैं। इसमें श्रुति भी है। वॉइस ऑफ वर्ल्ड, एक इंटरनेशनल ऑनलाइन सिंगिंग कंपटीशन है।

बचपन से ही रहा है संगीत के प्रति रहा है रुझान

श्रुति के पिता रामाराव बताते है कि क्लास 9 से ही श्रुति का संगीत के प्रति विशेष रुझान रहा है। छोटी उम्र से ही वह स्कूल और राज्य स्तरीय कंपटीशन में हिस्सा लेती रही है जहां उन्होंने हमेशा प्रथम स्थान किया। उनकी इसी शानदार परफॉर्मेंस को देखते हुए हमने हमेशा उन्हें सपोर्ट दिया।

उस्ताद वसीम अहमद से ले रही हैं शिक्षा

बिलासपुर के निकट सीपत, NTPC में रहने वाली श्रुति वर्तमान में शास्त्रीय गायन के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाने के लिए कोलकाता स्थित संगीत रिसर्च अकादमी के गुरु उस्ताद वसीम अहमद खान से संगीत की शिक्षा प्राप्त कर रही है।

कंपटीशन में हिस्सा लेने के बाद कराया अपना ऑपरेशन

श्रुति को पिछले कई महीनों से पेट में तेज दर्द हो रहा था। लेकिन कंपटीशन की डेट नजदीक होने की वजह से वह पेन किलर खा कर इस असहनीय दर्द को भी झेलती रही। ग्रैंड फिनाले मैं हिस्सा लेने के बाद अब वह बिलासपुर के एक निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रही है।

सितंबर के पहले हफ्ते में आएगा परिणाम

10 राउंड्स में हर बार 5 कंटेस्टेंट्स को सेलेक्ट किया गया। अब अंतिम पड़ाव में 5 कंटेस्टेंट्स बचे जिसमे से श्रुति भी है। फिलहाल श्रुति के लिए वोटिंग जारी है और सितंबर के पहले हफ्ते तक इस कंपटीशन का रिजल्ट आ जायेगा। श्रुति ने बताया कि वह शास्त्रीय संगीत में ही आगे बढ़ना चाहती है और उनके उस्ताद जैसा उन्हें मार्गदर्शन देंगे वह उसी के अनुसार फैसले लेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here