Chhattisgarh Education News: ‘दर्पण’ के माध्यम से छात्रों ने जानी अपनी क्षमता व कमजोरी

Chhattisgarh Education News:

रायपुर (ताजा खबर प्रतिनिधि)। Chhattisgarh Education News: ट्रिपल आईटी नया रायपुर फरवरी के महीने में प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए वार्षिक करियर मार्गदर्शन कार्यशाला ’दर्पण’ आयोजित करता है। महामारी के कारण कार्यशाला इस वर्ष देरी से कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए 24-26 जून को ऑनलाइन आयोजन किया गया। कार्यशाला प्रथम वर्ष के छात्रों को स्वयं की ताकत और रुचियां पहचानने और अपनी क्षमता अनुसार अवसरों का पीछा कर सफल पेशेवर बनने का एक अनूठा अवसर प्रदान करती है।

कार्यशाला के दौरान छात्र शॉर्ट एनालिसिस की मदद से अपने दीर्घकालिक और अल्पकालिक लक्ष्यों की एक दृढ़ समझ विकसित करते हैं। अर्थात वे अपनी ताकत, कमजोरियों, खतरों और अवसरों की पहचान करते हैं और उन्हें सूचीबद्ध करते हैं। प्रत्येक छात्र को आत्मनिरीक्षण के लिए निर्देशित किया जाता है और अपना प्रेजेंटेशन सदस्यों के सामने प्रस्तुत करने को कहा जाता है।

Ads

छात्रों द्वारा संस्थान में बिताए चार साल महत्वपूर्ण

ट्रिपल आईटी के निदेशक डॉ. प्रदीप के. सिन्हा का मानना है कि संस्थानों में छात्रों द्वारा बिताए चार साल उनके जीवन का सबसे मतहत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्हें संस्थान में रहने के दौरान सही दिशा में निर्देशित किया जाना चाहिए। इसलिए डॉ. सिन्हा निजी तौर पर छात्रों को वर्कशाप के दौरान परामर्श देते हैं। दर्पण कार्यशाला के प्रतिभागी छात्रों ने व्यक्त किया कि वे कार्यशाला को बहुत उपयोगी पाते हैं और इससे उन्हें अपने बारे में कई चीजों को समझने में मदद मिली है।

स्वरूप येओले और कोथा आदित्य ने कहा कि दर्पण के माध्यम से खुद को एक्सप्लोर करके वे काफी रोमांचित थे। अपूर्वा गुप्ता ने कहा भविष्य के लिए मेरा लक्ष्य क्या है, यह तय करना मेरे लिए अत्यंत कठिन था। मैं अब तक इससे बच रही थी। मगर, कार्यशाला ने इसे खोजने में मेरी मदद की।

तविशा थवारे ने कहा कि खुद का एक नया संस्करण बनाने को ही जीवन कहते हैं। इस कार्यशाला ने मुझे ऐसा करने में मदद की। डॉ. श्रेषा यादव नी घोष, सहायक प्रोफेसर, मानविकी और सामाजिक विज्ञान और व्यावसायिक विकास केंद्र की प्रभारी, इस कार्यशाला की समग्र समन्वयक थीं। आशीष पतले, अमन कुमार, अवि बंसल और बोडीचेरला दिग्विजय श्री साई इस वर्कशाप के छात्र समन्वयक थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here