BREAKING : वजन घटाने के लिए Kareena Kapoor करती है ये काम, चेहरे का ग्‍लो देख दंग रह गई उन्‍हीं की ट्रेनर

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान को फिटनेस के प्रति कितना लगाव है, यह बताने की जरूरत नहीं है। सभी जानते हैं कि वह अपने लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए खुद को चुनौती देना पसंद करती हैं। आमतौर पर फिट रहने के लिए करीना योग करती हैं, लेकिन हाल ही में उन्हें 108 बार सूर्य नमस्कार करते देखा गया।

विशेषज्ञों के अनुसार सूर्य नमस्कार के बिना योग की क्रियाएं अधूरी हैं। यह शारीरिक के साथ मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है। आमतौर पर सूर्य नमस्कार में 12 क्रियाएं होती हैं। 12 पोज सीक्वेंस न केवल नींद की समस्याओं से निपटने में मदद करता है, बल्कि मांसपेशियों को टोन करने , आंतरिक अंगों के काम करने , लचीलेपन और ब्लड सकुर्लेशन में सुधार के साथ एक्स्ट्रा फैट को बर्न करने में मदद करता है।

Ads

​108 बार सूर्य नमस्कार करने के फायदे
विशेषज्ञ कहते हैं कि सूर्य नमस्कार के 25 सेट करना थोड़ा कठिन हो सकता है, लेकिन पहले से तैयारी करके इसे हासिल किया जा सकता है। ध्यान रखें कि पहली ही बार में बॉडी को ऐसा करने के लिए पुश न करें। लेकिन धीरे-धीरे एक शेड्यूल को फॉलो करके इसके लिए तैयार हों। हालांकि , हर दिन इसका काउंट बढ़ाना ही फिट रहने के लिए काफी नहीं है, बल्कि इसके साथ हाइड्रेट रहने, अच्छी तरह से खाने और आराम करने के साथ शरीर की सही देखभाल भी जरूरी है। आप चाहें, तो इसे ब्रीदिंग एक्सरसाइज और रिलेक्स करने वाली एक्सरसाइज के साथ किया जाना चाहिए।

वजन घटाने का बेहतरीन तरीका है सूर्य नमस्‍कार

वैसे तो सूर्य नमस्कार अपने आप में ही पूर्ण है। लेकिन फिर भी क्यों लोग 108 बार सूर्य नमस्कार करते हैं। दरअसल, 108 बार सूर्य नमसकार करने के बहुत से लाभ हैं, जो आपको जानना चाहिए।

इसे करने से शरीर में लचीलापन आता है बल्कि सहनशक्ति में भी वृद्धि होती है।
इसके करने से चक्र और तंत्रिका केंद्र साफ होता है।
इस दौरान गहरी सांस लेने से श्वसन तंत्र शुद्ध होता है।
इसे करने से रीढ़ और मांसपेशियां मजबूत होती हैं।
यह आपको मानसिक रूप से शांत और संतुलित बनाता है।
40 साल के पार पहुंच चुकी हैं ये 7 एक्‍ट्रेस, लेकिन फिटनेस ऐसी कि आज भी दिखती हैं जवा

​सूर्य नमस्कार करते वक्‍त बरतें ये सावधानी

गर्भवती महिलाओं को 108 बार सूर्य नमस्कार करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
जिन लोगों को पीठ दर्द या चोट की शिकायत रहती है , उन्हें भी यह व्यायाम करने से पहले अपने डॉक्टर से पूछना चाहिए।

हाई ब्लड प्रेशर से पीडि़त लोगों को भी यह सीक्वेंस करने से बचना चाहिए।
सूर्य नमस्कार में विभिन्न मुद्राओं के साथ घुटनों में ताकत होना बहुत जरूरी है। जिस व्यक्ति को गठिया है, जिस कारण घुटने मे अकडऩ होती है , उसे इस सीक्वेंस से बचना चहिए।
अगर किसी व्यक्ति को शरीर और मांसेपशियों में कमजोरी है, तो भी सावधानी बरतनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here