अंबेडकर में 2 हजार बेड और, स्वास्थ्य मंत्री टीएस ने देखी तैयारी…

[ad_1]

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने गुरुवार को अंबेडकर अस्पताल का दौरा कर कोरोना की तीसरी लहर को लेकर की जा रही तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को अधूरे निर्माण कार्यों में तेज़ी लाने के निर्देश दिए। मंत्री ने कहा कि इसे तीसरी लहर की तैयारी के रूप में देखा जा सकता है। कभी भी तीसरी लहर देखने को मिल सकती है। अफसरों ने उन्हें बताया कि व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के लिए अलग-अलग विभागों की ओपीडी तैयार की जा रही है।

Ads

केंद्र से मिले ऑक्सीजन प्लांट का काम लगभग पूरा हो गया है। ऑक्सीजन प्लांट शुरू कर दिया गया है। ऑक्सीजन के प्रेशर और उत्पादन दोनों मानक से ज़्यादा 700 बिस्तर तैयार कर लिए गए हैं। निरीक्षण के बाद उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान हमने देखा कि ऑक्सीजन हमारे पास पर्याप्त थी, लेकिन बेड की कमी होने के कारण मरीजों को जैसे तैसे इलाज करना पड़ा है। मरीज़ इसलिए भटकते थे, क्योंकि बेड कम और मरीज़ ज़्यादा आ रहे थे। इसीलिए लगातार संख्या बढ़ाई जा रही है, आगे हमारा लक्ष्य है कि मेकाहारा में 2 हज़ार बेड तैयार किया जाए। उन्होंने सोनोग्राफी, कंसलटेशन रूम, गायनी विभाग आदि का दौरा किया । मेटरनिटी वार्ड का जायजा लेते हुए उन्होंने कहा कि संस्थागत डिलीवरी के लिए और अधिक सुविधाओं को बढ़ाने की दरकार है। अंबेडकर अस्पताल में हाल ही में बनाए गए नए मेटरनिटी विंग में महिलाओं के उपचार के लिए, प्रसव के पहले और बाद में उसकी जांच के लिए वार्ड की व्यवस्था की गई है। साथ ही तीन ऑपरेशन थिएटर भी बनाए गए हैं। ओटी के पास ही डॉक्टरों के बैठने के लिए रूम भी बनाया गया है।

हर वार्ड में 30 बिस्तर सभी में ऑक्सीजन सुविधा
उन्होंने कहा कि अस्पताल में हर वार्ड में तीस बिस्तर की सुविधा बनाई गई है। सभी बिस्तर पर ऑक्सीजन की सुविधा भी है। टीएस सिंहदेव के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग सुविधाओं के विस्तार के साथ ही गुणवत्ता पर भी खास ध्यान दे रहा है। अंबेडकर अस्पताल के ऊपर की मंजिल में भी आईसीयू बिस्तरों की संख्या बढ़ाने के साथ नई बिल्डिंग बनाने का भी प्लान है।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here