सर्चिंग पर निकले जवानों को टारगेट बनाने झाड़ियों में छिपे थे 2 हार्डकोर नक्सली, घेराबंदी कर पकड़ा, जेल ब्रेक का फरार आरोपी भी गिरफ्तार

दंतेवाड़ा पुलिस को गुरुवार को नक्सल विरोधी अभियान के तहत एक और बड़ी सफलता हाथ लगी है। अरनपुर थाना क्षेत्र के बुरगुम व पोटाली के जंगलों में सर्चिंग के दौरान जवानों ने 2 हार्डकोर इनामी नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। यह दोनों नक्सली अपने साथियों के साथ मिलकर जवानों को एंबुश में फंसाने की प्लानिंग कर रहे थे। जिन्हें जवानों ने घेराबंदी कर गिरफ्तार किया है। यह दोनों नक्सली मलांगिर एरिया कमेटी में पिछले कई सालों से सक्रिय थे।

बीजापुर पुलिस ने भी गुरुवार को एक नक्सली को गिरफ्तार किया है।

बीजापुर पुलिस ने भी गुरुवार को एक नक्सली को गिरफ्तार किया है।

Ads

जानकारी के मुताबिक, अरनपुर थाना बल व DRG के जवान नक्सल सर्चिंग पर निकले हुए थे। जब बुरगुम व पोटाली के जंगल में जवान पहुंचे तो 2 संदिग्ध व्यक्ति पुलिस को देख झाड़ियों में छिप रहे थे। जिन्हें जवानों ने घेराबंदी कर पकड़ा है। पूछताछ में इन्होंने संगठन में सक्रिय होना बताया। इनमें से एक की पहचान नक्सली डेंगा देवा (32) मलांगिर एरिया कमेटी सदस्य व सप्लाई टीम कमांडर के रूप में हुई है। इस पर 5 लाख रुपए का इनाम घोषित है। वहीं दूसरा माड़वी सन्ना (28) जनताना सरकार अध्यक्ष है। जो 1 लाख रुपए का इनामी है। इन दोनों ने पुलिस को बताया कि, ये जवानों को एंबुश में फंसा कर वारदात को अंजाम देने के फिराक में थे।

दंतेवाड़ा के SP डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया कि, ये दोनों नक्सली हत्या, लूट, आगजनी जैसी कई बड़ी घटनाओं में शामिल रहे हैं। कई बड़े नक्सली लीडरों के साथ काम कर चुके हैं। पूछताछ में कई बड़े खुलासे हो सकते हैं।

जेल ब्रेक का फरार नक्सली बीजापुर से गिरफ्तार
इधर बीजापुर पुलिस ने भी गुरुवार को एक नक्सली को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली पुनेम भीमा साल 2007 में दंतेवाड़ा जेल ब्रेक की घटना में शामिल था। इस फरार नक्सली को बीजापुर पुलिस ने उसुर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली के खिलाफ अलग-अलग थानों में कई नामजद अपराध भी दर्ज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here